माता पिता की कहानी सुनकर वकील और जज भी रोने लगे

 जी हां दोस्तों या कहानी एक ऐसे दंपत्ति की है

Motivational Mother Father Hindi Story |  हिन्दी कहानी

 जिनका एक छोटा सा घर था जिसमें वह अपने एक बेटे आकाश के साथ अपनी जिंदगी मजे से गुजार रहे थे बचपन से ही आकाश बहुत शरारती था माता पिता आकाश को बहुत अच्छे से रखते थे और बहुत बड़े स्कूल में पढ़ने भेजते थे इंटर के बाद आकाश के माता-पिता ने आकाश से पूछा अब तुम आगे क्या करना चाहते हैं

तो आकाश ने कहा कि पिताजी अब मैं इंजीनियर बनना चाहता हूं

 तो उनके पिताजी ने उसको इंजीनियर बनाया तथा अपने जितनी जमा पूंजी थी सब उसमें लगा दिया आकाश की उम्र अब शादी वाली हो गई थी तो उनके माता-पिता ने उसकी शादी एक लड़की से कर दी कुछ दिन तो बहू ने उनका बहुत अच्छे से ख्याल रखा लेकिन बहू कहने लगी मुझे घर में अच्छा नहीं लगता है

इसीलिए मैं भी जॉब करना चाहती हूं और वह भी जॉब करने लगे आकाश तथा उसकी बीवी दोनों ऑफिस जाने लगे इसी तरह कई महीने गुजरने के बाद धीमे-धीमे आकाश तथा उसकी बीवी के तेवर बदलने लगे और वह अपने माता-पिता से ठीक से बात भी नहीं करते थे आकाश व उसकी बीवी दोनों सुबह देर से उठते थे जिसकी वजह से वह अपने माता पिता को सुबह की चाय भी नहीं देते थे

बिचारे वह लोग भूखे प्यासे बैठे रहते थे यह लोग तैयार होकर ऑफिस निकल जाते थे और नाश्ता बाहरी करते थे एक दिन आकाश की मां ने जब उससे कहा कि बेटा बहु से कहो जल्दी घर आया करें और सुबह जल्दी उठा करें हम लोगों को खाने पीने की बहुत दिक्कत हो रही है तो आकाश ने कहा मां हम लोगों का लाइफस्टाइल अलग है और हम लोग देर तक ऑफिस में काम करते हैं

इसलिए सुबह जल्दी उठना मुश्किल है आप ही चाय बनाकर पी लिया करो आकाश की मां अब काफी बूढ़ी हो चुकी है और उनके पिताजी के पैर भी खराब है जिससे वह ज्यादातर समय बिस्तर पर ही बिताते हैं बेचारी बूढ़ी मां से जितना होता था  वह करती एक दिन आकाश और उसकी पत्नी रात को बारह बजे घर आए तो उसकी मां ने कहा बेटे इतनी रात में मत आया करो तो उसके बेटे ने और बहू ने कहा की बहुत हो गया यह सब रोज की हाय हाय अब हम दोनों यहां कभी नहीं रहेंगे अब हम लोग एक नया मकान ढूंढ लेंगे

और वही शिफ्ट हो जाएंगे मां और बाप या सुनके अचंभित हो गए और रोने लगे माता-पिता ने आकाश को रोकने की बहुत कोशिश की लेकिन आकाश नहीं माना वह अपनी पत्नी को लेकर नए मकान में शिफ्ट हो गया वह कभी भी अपने माता-पिता से मिलने नहीं जाता था ना ही उनको फोन करता था  वहां पर उसके माता-पिता अकेले ही घर में पड़े रहते थे एक दिन उसके माता-पिता को एक सरकारी नोटिस मिलती है यह नोटिस आकाश ने भेजा था  इस नोटिस को लेकर आकाश की मां मोहल्ले के वकील के पास जाती है और उसको देती है यह नोटिस पढ़कर वकील भी रोने लगता है

Motivational Mother Father Hindi Story |  हिन्दी कहानी

माता पिता को बताता है कि उसके बेटे ने मकान में अपना हिस्सा मांगा है वकील कहता है माता जी आप टेंशन ना लो अब आपके बेटे आकाश को तो मैं अब कोर्ट में सीधा करूंगा फिर वह आकाश को कोर्ट में बुलाता है और जज के सामने पूरी कहानी सुनाता है माता-पिता की यह कहानी सुनकर जज भी रोने लगते हैं और आकाश से कहते हैं

कि तुमको माता पिता की प्रॉपर्टी में कोई हिस्सा नहीं मिलेगा तथा माता पिता आकाश को अपनी जायदाद से बेदखल कर देते हैं आकाश रोता हुआ वहां से चला जाता है वह वकील माता-पिता से कहता है कि अब आप लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है आज के बाद मैं आपका बेटा हूं और आज से आप की देखभाल मैं करूंगा  और आज से आप मेरे घर में ही रहेंगे या सब सुनकर वहां बैठी पब्लिक और जज साहब सब ताली बजाने लगे और बहुत खुश हुए

दोस्तों अपने मां बाप का ख्याल रखना कभी भी किसी के कहने पर या पैसों की लालच में अपने मां-बाप को मत छोड़ना दोस्तों यह कहानी आपको कैसी लगी हमको कमेंट करके जरूर बताना (Motivational Mother Father Hindi Story | हिन्दी कहानी)

————————————————————————————————————————————–

Read More : Motivational Hindi Story | अंधी बूढ़ी मां और एक गंदे बेटे की


दोस्तों अगर Motivational Mother Father Hindi Story | हिन्दी कहानी लेख अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें इससे हमे सहयोग मिलेगा और कमेंट में अपनी राय जरूर बताएं, Flasis आपके उज्जवल भविष्य की कामना करता है, धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *