मेरे पति मुझसे 17 साल बड़े थे और मैं 21 साल की बहुत ज्यादा गोरी और भरे बदन की बहुत ही खूबसूरत लड़की थी मुझे जो देखता वाह दीवाना हो जाता और मेरे पति  देखने में बहुत लंबे चौड़े थे और उनके सर पर बाल भी नहीं थे उनका बर्ताव  मेरे साथ अच्छा नहीं था वह हमेशा से मुझसे नाराज ही रहते थे  शादी की पहली रात को उन्होंने मेरे साथ जो किया वह अच्छा नहीं था मेरे खून निकल रहा था और वह कमरा छोड़ कर चले गए उन्होंने पलट कर भी मेरी तरफ नहीं देखा

मेरे पति मुझसे 17 साल बड़े थे और मैं 21 साल की लड़की Motivational hindi story kahaniya Emotional Heart Touching Story Wife and Husband

Emotional Heart Touching Story Wife and Husband

जी हां दोस्तों यह बात उस समय की है जब मैं ग्रेजुएशन में पढ़ाई कर रही थी मेरी बड़ी दीदी को लड़के वाले देखने आए थे उन्होंने मेरी दीदी को पसंद कर लिया था और शादी फिक्स कर दी थी मेरे माता-पिता और हम लोग भी बहुत खुश थे इस शादी से या हमारे घर की पहली शादी  थी हम सब लोग बड़ी धूमधाम से शादी की तैयारियों में लगे हुए थे आखिरकार शादी वाला दिन आ ही गया घर पर बारात आ गई मंडप में दूल्हा बैठ गया और लड़के वालों ने कहा जाकर दुल्हन को बुलाकर लाओ हम सब लोग अपनी दीदी को बुलाने उनके कमरे में गया लेकिन जब कमरा खोलकर देखा तो हम सब लोग हैरान रह गए

वहां पर दीदी नहीं थी वहां पर सिर्फ एक लेटर मिला जिस पर लिखा हुआ था पूजनीय पिताजी और माताजी मैं यह शादी नहीं कर सकती मैं किसी और से प्यार करती हूं और मैं घर छोड़ कर उसके साथ भाग रही हूं इसीलिए मुझे ढूंढने की कोशिश मत करना अब मैं दोबारा लौटकर नहीं आऊंगी यह सब सुनकर मेरे माता पिता के पैरों तले जमीन खिसक गई  सोचने लगे कि क्या किया जाए अब तो बेज्जती हो जाएगी पूरे समाज में फिर मेरी मम्मी ने मुझसे कहा बेटा  एक ही उपाय है कि तुम दुल्हन की जगह ले लो अब हम लोगों की इज्जत तुम्हारे हाथ में ही है मेरी तो कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि अब मैं क्या करूं

मैं मम्मी को ना भी नहीं कह सकती थी क्योंकि हम लोगों की इज्जत का सवाल था इसीलिए मैं दुल्हन के कपड़े पहनकर मंडप में बैठ गई और मैंने यह शादी कर लिया मैं यही सोच रही थी कि जब दूल्हे को पता चलेगा तो क्या होगा मैं घूंघट ओढ़ कर अपने ससुराल में बैठी थी रात को जब दूल्हा आया और उसने घूंघट उठाया तो पूछा तुम तो उसकी छोटी बहन हो तुम यहां क्या कर रही हो जाओ तुम अपनी बड़ी बहन को बुलाओ मैंने अपने पति को सब कुछ सच-सच बता दिया

यह सुनने के बाद वाह बहुत तेज गुस्सा हुआ और मेरे मुंह पर दो तीन थप्पड़ लगा दिया और मैं वहीं पर गिर गई मेरे बहुत तेजी से खून निकलने लगा लेकिन उसने मेरी तरफ ध्यान नहीं दिया और बहुत चिल्लाया और कमरा छोड़ कर बाहर चला गया मैं रात भर रोती रही और मैं कर भी क्या सकती थी आखिरकार गलती हम लोगों की ही थी ऐसा कई महीनों तक चलता रहा उन्होंने कभी भी मुझे एक्सेप्ट नहीं किया इसी कारण आज तक हम लोगों का कोई बच्चा भी नहीं है

मेरे पति बहुत अमीर थे उनके पास पैसा दौलत सोना चांदी बहुत है लेकिन बस हम लोगों के पास सुकून नहीं था हम लोग जब भी बाजार जाते थे तो लोग मुझे उनकी बेटी समझ लिया करते हैं या देखकर वह मुझसे और भी ज्यादा जल जाते थे इसीलिए वह मुझे कभी भी अपने साथ लेकर नहीं जाते थे एक दिन मैंने पड़ोस में एक लड़के को देखा जो मुझे घूर रहा था मैंने जब ध्यान से उसको देखा तो यह वही लड़का था जो मेरे साथ मेरे क्लास में पढ़ता था उसका नाम रोहित था हम लोग कभी  एक साथ बैठ कर बात कर लिया करते थे मेरे पति से तो मेरी हमेशा लड़ाइयां ही होती थी पूरा मोहल्ला हम लोगों पर हंसता था

और हम लोगों की लड़ाई यों को देख कर मजे लेता था लेकिन केवल रोहित ही था जो मेरे दुख दर्द को समझता था एक दिन मैं और रोहित घर के बाहर खड़े होकर बात कर रहे थे तभी अचानक मेरे पति आ गए और उन्होंने हम दोनों को देख लिया वह मेरे ऊपर बहुत चिल्ला रहे थे और मुझसे लड़ाई कर रहे थे मैंने उनसे कहा कि मैं अब कभी उससे बात नहीं करूंगी लेकिन वह मेरी बात सुनने को तैयार नहीं थे बहुत जोर जोर से चिल्ला रहे थे जिसकी वजह से उनका बीपी बहुत आई हो गया था वह चिल्लाते हुए जीने की तरफ जाने लगे तभी उनका पैर फिसल गया वह जीने से फिसल कर सीधा नीचे गिर पड़े मेरी तो समझ में नहीं आ रहा था कि अब मैं क्या करूं  मैंने सोचा क्यों ना राहुल की मदद ली जाए कोई और मोहल्ले वाला तो मेरी मदद नहीं करेगा इसलिए मैं तुरंत ही अपने पड़ोस से राहुल को बुला कर लाई और हम दोनों तुरंत  उनको हॉस्पिटल ले गए हॉस्पिटल ले जाने के बाद डॉक्टर ने मुझसे कहा कि आपके पति कोमा में चले गए अब भगवान ही इनकी रक्षा करें मैं भगवान से बहुत प्रार्थना करने लगी इनको जल्दी से ठीक करना मैंने और राहुल ने दिन रात उनकी सेवा की मेरे पति को भी एहसास हो गया था

कि इतना पैसा दौलत होने के बावजूद भी किसी ने उनका साथ नहीं दिया सिर्फ राहुल और मेरी पत्नी ने मेरा इतना साथ दिया है एक दिन डॉक्टर ने मुझे कॉल की और कहा आपके पति होश में आ गए हैं जल्दी आ जाइए मैं और राहुल जल्दी से हॉस्पिटल पहुंचे मेरे पति ने मुझसे कहा कि अब मेरे पास ज्यादा समय नहीं है यह लो बक्से की चाबी तुम और राहुल आपस में शादी कर लेना मैं अब इस दुनिया से जा रहा हूं तुम लोग हमेशा खुश रहना या कहते ही वह इस दुनिया से चले गए

हम लोग बहुत रोए और उन को अंतिम विदाई देकर अपने घर लौटे तो वह चाबी से हम लोगों ने वाह बक्सा खोला तो हम लोगों के होश उड़ गए उस बक्से में इतना सोना इतना चांदी था कि हम लोगों की सात पुश्ते बैठकर खा सकती थी मैंने और राहुल ने शादी कर ली आज हमारे दो बच्चे भी हैं आज हम लोग मजे से अपनी जिंदगी जी रहे हैं और बहुत खुश हैं

Conclusion (Emotional Heart Touching Story Wife and Husband)

दोस्तों अच्छे इंसान के साथ हमेशा अच्छा ही होता है जिंदगी में आप सिर्फ भलाई करते रहिए वह भलाई का फल आपको एक दिन जरूर मिलेगा एक नई कहानी के साथ आपसे फिर मिलने जरूर आऊंगी धन्यवाद दोस्तों

————————————————————————————————————————————–

Read More Story Click Here : शादी के दिन बेटे की असलियत देखकर मां रोने लगी


दोस्तों अगर Emotional Heart Touching Story Wife and Husband लेख अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें इससे हमे सहयोग मिलेगा और कमेंट में अपनी राय जरूर बताएं, Flasis आपके उज्जवल भविष्य की कामना करता है, धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *