शादी के दिन बेटे की असलियत देखकर मां रोने लगी जी हां दोस्तों आज मेरे इकलौते बेटे शशांक की तीसरी शादी है आज मैं बहुत डरी हुई हूं आज पता नहीं क्या होगा क्योंकि पहली शादी वाले दिन भी मेरे बेटे ने बहू के साथ पता नहीं क्या कर दिया था की वह बहुत जोर जोर से चिल्ला रही थी और शादी की पहली रात ही घर छोड़कर भाग गई

Best Motivational Hindi Story बेटे की असलियत देखकर मां रोने लगी

और दोबारा कभी नहीं आई और फिर हमने अपने बेटे की दूसरी शादी करने की सोची और सोचा शायद हो सकता हो हमारी बहू में ही कोई दिक्कत हो फिर हमने शशांक की दूसरी शादी कर दी दूसरी शादी में भी वही हुआ जिसका मुझे डरता था बहू को मैंने अपने बेटे के कमरे में भेजा और सोचा कि अब सब ठीक हो गया है

लेकिन करीब एक घंटे बाद बहु कमरे से बहुत तेज चिल्लाते हुए बाहर की तरफ भागी हम लोग उसकी चीखें सुनकर तुरंत बाहर वाले कमरे की तरफ दौड़े और देखा कि बहू बाहर जमीन पर गिर पड़ी है बहुत तेज चिल्ला रही है और कुछ देर बाद ही वाह बेहोश हो जाती है हम सब लोग उसको हॉस्पिटल ले जाते हैं और फिर कई घंटे बाद उसको होश आता है हम बहू से पूछते हैं कि बेटा क्या हुआ था कमरे में जो तुम्हारी ऐसी हालत हो गई

लेकिन वह कुछ भी नहीं बोलती है और डॉक्टर कहते हैं कि आप अपनी बेटी को ले जा सकते हैं वह हमारे साथ ससुराल जाने से मना कर देती है वह अपने मायके चली जाती है और कहती है कि मैं आज के बाद आपके यहां कभी नहीं आऊंगी मेरे तो समझ मैं ही नहीं आता है कि अब मैं क्या करूं

अपने बेटे से पूछती हूं तो वह कुछ बोलता ही नहीं है और बातें टाल देता है जब ज्यादा फोर्स करो तो वह घर छोड़कर चला जाता है इसी राज से पर्दा उठाने के लिए आज मैं अपने  बेटे की तीसरी शादी कर रही हूं मैं देखना चाहती हूं कि आखिर उस कमरे में होता क्या है जो बहू दोबारा उस कमरे में जाने को तैयार नहीं होती है आखिर मेरा बेटा उनके साथ करता क्या है और मैंने अपनी तीसरी बहू को बड़ी मुश्किल से इस शादी के लिए मनाया है

मैंने उसे वादा किया है कि मैं तुमको कोई भी मुश्किल नहीं आने दूंगी हम लोग बस देखना चाहते हैं कि आखिर वहां पर होता क्या है और जैसे ही कुछ गलत होगा हम लोग तुरंत ही तुमको बचा लेंगे यह बातें सुनकर वह शादी के लिए मान गई है शादी की सारी रस्में हो जाने के बाद मैंने अपनी बहू को अपने बेटे के कमरे में भेजा और मैं भी उस कमरे में चुपचाप एक कोने में छुप गई और इंतजार करने लगे कि कब मेरा बेटा आएगा मैंने बाहर भी कई लोगों को खड़ा कर दिया था और कह दिया था

जब मैं आवाज दूं तो तुरंत कमरे में चले आना मेरा बेटा शशांक कमरे में आया और बहु पलंग पर बैठी थी शशांक उसके बगल में ही बैठ गया शशांक बहू से कहने लगा तुमने यह शादी क्यों कि मुझे यह सब नहीं पसंद है मैं बेटे व बहू पर नजर रखी थी वह उनकी बातें सुन रही थी शशांक धीरे-धीरे बोलते बोलते एकदम से उसका रूप बदल गया उसका यह रहस्य देख कर मैं एकदम परेशान हो गई और एकदम से चीखने लगी यह सुनकर बाहर खड़े सब लोग तुरंत अंदर कमरे में आ गए

उन्होंने तुरंत बहू को कमरे से बाहर ले गए और शशांक को जोर से पकड़ लिया आज अपने बेटे का सच जानकर मैं बहुत शर्मिंदा हूं मैं फिर एक बड़े से डॉक्टर के पास गई और उनको उस रात की सारी बात बताई कि उस रात को जब मेरे बेटे ने बहू को देखा तो वह एकदम से गुस्सा हो गया था उसकी आंखें एकदम लाल हो गई थी वह बहू के कपड़े फाड़ने लगा था वह एक भयानक शैतान की तरह लग रहा था कि मानो जैसे बहू को खा जाएगा डॉक्टर ने बताया कि उसको एक खास बीमारी है

जिसमें वह लाल जोड़े में किसी भी लड़की को देखता है तो वह ऐसा ही व्यवहार करता है हमने कई महीनों तक उसका इलाज किया और वह पूरी तरह से ठीक हो गया आज शशांक के दो बच्चे भी हैं आज शशांक अपनी पत्नी के साथ अच्छी जिंदगी जी रहा है आज अगर मैं यह सब नहीं करती तो मुझे यह रहस्य कभी भी पता नहीं चलता

Conclusion (Best Motivational Hindi Story बेटे की असलियत देखकर मां रोने लगी)

दोस्तों इसीलिए जिंदगी में कभी हार नहीं माननी चाहिए परेशानी को मत सोचो मेरी जिंदगी में कितनी परेशानी व कितनी दिक्कतें हैं बल्कि उस परेशानी का हल क्या है उसके बारे में सोचो

————————————————————————————————————————————–

Read More Story Click Here : मेरी चाची की कहानी Hindi Story with Moral


दोस्तों अगर Best Motivational Hindi Story बेटे की असलियत देखकर मां रोने लगी लेख अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें इससे हमे सहयोग मिलेगा और कमेंट में अपनी राय जरूर बताएं, Flasis आपके उज्जवल भविष्य की कामना करता है, धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *